सितम को करम समझे…

सितम को करम समझे…

Love shayari in hindi

         सितम को हम करम समझे, 
जफा को हम वफा समझे, 
        जो इस पर भी न समझे वह 
तो उस बुत को खुदा समझे।

       Sitam ko hum karam samjhe,
jafa ko hum vafa samjhe,
        jo is par bhi na samjhe wah,
to us bahut ko khuda samjhe |

Leave a Reply