सोचा नहीं अच्छा बुरा…

सोचा नहीं अच्छा बुरा…

love shayari in hindi

            सोचा नहीं अच्छा बुरा, देखा सुना कुछ भी नहीं, 
माँगा ख़ुदा से हर वक़्त तेरे सिवा कुछ भी नहीं, 
          जिस पर हमारी आँख ने, मोती बिछाये रात भर, 
भेजा वही कागज़ उसे, हमने लिखा कुछ भी नहीं।

       socha nahi achha dekha suna bhi nahi,
manga khuda se har waqt tere siva kuchh bhi nahi,
     jis par hamari aankh ne, moti bichhye raat bhar,
bheja vahi kagaj use,hamne likha kuchh bhi nahi |

Leave a Reply