रग-रग में समा कर…

रग-रग में समा कर…

Love shayari in hindi

          रग-रग में इस तरह से समा कर चले गये, 
जैसे मुझ ही को मुझसे चुराकर चले गये, 
      आये थे मेरे दिल की प्यास बुझाने के वास्ते, 
इक आग सी वो और लगा कर चले गये।

         rag-rag me iss tarah se sama kar chale gaye,
jaise mujh hi ko mujhse churakar chale gaye,
     aaye the mere dil ki pyaas bujhane ke vaaste,
ikk aag si vo aur aag kar chale gaye |

Leave a Reply