मोहब्बत खुद…

मोहब्बत खुद…

       मोहब्बत खुद बताती है, 
कहाँ किसका ठिकाना है, 
       किसे ऑखों में रखना है, 
किसे दिल मे बसाना है।

      mohobbat khud batati hai,
kaha kiska thikana hai,
    kise ankho me rakhna hai,
kise dil me basana hai |

 

Leave a Reply