मेरी ये बेचैनियाँ…

मेरी ये बेचैनियाँ…

Love shayari in hindi

          मेरी ये बेचैनियाँ… और उन का कहना नाज़ से, 
हँस के तुम से बोल तो लेते हैं और हम क्या करें।

    Meri ye bechainiyo..aur un ka kahna naaj se,
hans ke tum se bol to lete hai aur hum kya kare |

 

Leave a Reply