दो हिस्सो में बंट गये…

दो हिस्सो में बंट गये…

दो हिस्सो में बंट गये 
मेरे तमाम अरमान… 
कुछ तुझे पाने निकले, 
कुछ मुझे समझाने निकले।

do hisso me bant gaye
mere tamaam armaan…
kuchh tujhe pane nikle,
kuchh mujhe samjhane nikale|

Leave a Reply