तेरी आवाज़ जो कल सुनी…

तेरी आवाज़ जो कल सुनी…

Love shayari in hindi

    तपती दोपहरी, गरम रेत पर… 
ठंडे पानी की बूँदों जैसा काम कर गई… 
   तेरी आवाज़ जो कल सुनी मैंने…। 

     tapati dopahri garam ret par…
thande pani ki boondo jaisa kaam kar gai…
   teri avaaj jo kal suni…|

Leave a Reply