जज़्बात समझता हूँ​…

जज़्बात समझता हूँ​…

Love shayari in hindi

              ​मैं अल्फाज़ हूँ तेरी हर बात समझता हूँ​, 
मैं एहसास हूँ तेरे जज़्बात समझता हूँ​, 
          कब पूछा मैंने ​कि ​क्यूँ दूर हो मुझसे​, 
मैं दिल रखता हूँ तेरे हालात समझता हूँ​।

         mai alfaaj hoo teri har baat samjhta hoo,
mai ehsaas hoo tere jajbaat sajhta hoo,
          kab poocha maine ki kyu door ho mujhse,
mai dil rakhta hoo tere halat sajhta hoo |

Leave a Reply