चाहत की इंतिहा…

चाहत की इंतिहा…

Love shayari in hindi

दिल की धड़कन और मेरी सदा है वो, 
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है वो, 
चाहा है उसे मैंने चाहत से बढ़ कर, 
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है वो।

Dil ki dhadkan aur meri sada hai vo,
meri pahli aur aakhri vafa hai vo,
chaha pahli aur aaakhri vafa hai vo,
chaha hai use maine chaht se badh kar,
meri chaht aur chaht ki intiha hai vo |

Leave a Reply