चलते चलते मेरे कदम…

चलते चलते मेरे कदम…

चलते-चलते मेरे कदम 
हमेशा यही सोचते हैं, 
कि किस ओर जाऊं तो तू मिल जाये।

chalte-chalte mere kadam
hamesha yahi soche hai,
ki kis or jaau to too mil jaaye|

Leave a Reply