कोई पर्दा न था…

कोई पर्दा न था…

Love shayari in hindi

      तुम तो अपने घर के थे तुमसे कोई पर्दा न था लेकिन, 
जो दिल की बात थी ज़ालिम वही मुँह से नहीं निकली।

   TUm to apne ghar ke the tymse koi parda na tha lekin,
jo dil ki baat thi jaalim vahi munh se nahi nikali |

Leave a Reply