एक अजनबी पर ऐतबार…

Amazing
5

Summary

    क्यूँ  किसी से इतना प्यार हो जाता है, 
एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है, 
        लगने लगते है अपने भी पराए, 
जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।

             Kyu kisi se itna pyaar ho jata hai,
ek din ka intzar dubara ho jata hai,
       lagne lagte hai apne bhi paray,
jab ek ajnabi par etbaar ho jata hai |

एक अजनबी पर ऐतबार…

Love shayari in hindi

              क्यूँ  किसी से इतना प्यार हो जाता है, 
एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है, 
        लगने लगते है अपने भी पराए, 
जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।

             Kyu kisi se itna pyaar ho jata hai,
ek din ka intzar dubara ho jata hai,
       lagne lagte hai apne bhi paray,
jab ek ajnabi par etbaar ho jata hai |

Leave a Reply